Mehandipur Balaji Hanuman Mandir Khajrana Indore

श्री बाला जी हनुमान का मंदिर खजराना में बहुत ही लोकप्रिये है, यहाँ मेहदी पुर बालाजी हनुमान मंदिर के नाम से भी जाना जाता है, यहाँ खजराना गणेश मंदिर से कुछ ही कदमो की दुरी पर है , मंदिर में शनिवार और मंगलवार को बहुत ही रोचक आरती होती है, इस दिन दिन में 3 बार हनुमान जी की आरती होती है ,मगलवार और शनिवार को अधिकतर भक्त की भीड़ रहती है आरती का समय सुबह 8 बजे और श्याम को 8 :30 बजे रहता है। हफ्ते के विशेष 2 दिन मंदिर में आरती तीन बार होती है और उस दिन आरती का टाइम दुपहर को 1:30 बजे रहता है, सुबह और श्याम की आरती अपने समय पर होती है आरती के बाद मंदिर में भक्तो को प्रसादी वितरण किया जाता है।

माँगलवार और शनिवार को चावल की खिचड़ी का भी वितरण किया जाता है खिचड़ी के वितरण का समय सुबह 10 बजे से लगभग 1 बजे तक होता है

मगलवार और शनिवार को हनुमान जी चोला चढ़ाया जाता है जो भी भक्त अपनी और से हनुमान जी पूजा और चोला चढ़ाना चाहता है वो एक दिन पहले या जब भी आपको समय हो मंदिर में आकर संपर्क कर सकता है
जो भी वयक्ति हनुमान जी की पूजा करना चाहता है वो मंदिर प्रागण में जो पुजारी या मंदिर में पूजा करने वाले से संपर्क कर सकता है ,
पूजा और चोले के सामान के लिए आपको 600 से 650 रुपए जमा करना होता है और आप मंगलवार या शनिवार में से जिस दिन भी पूजा कराना चाहते हो पुजारी जी को बता दे आपको उस दिन आने की बोल देंगे और आपकी तरफ से पूजा कर देंगे , यदि आप नहीं भी आते है है तो आपकी पूजा आपकी और से हो जाती है ,
जब आप पूजा के लिए रुपए दे अपना नाम मोबाइल नंबर और पता जरूर लिखवाये जिससे आपके न आने पर आके नाम से हनुमान जी की पूजा हो जाय।
मंदिर में एक साल में 3 से 4 बार भंडारे का कार्यक्रम रखा जाता है और सभी को बहुत अच्छे से भर पेट खाना खिलाया जाता है। खाने में कही प्रकार की भोजन होते है।

Mehandipur Balaji Hanuman Mandir Khajrana Indore

हनुमान जयंती और आवला नोमी के दिन हमेशा भंडारा किया जाता है

शिव जी का और माता जी का मंदिर भी है। शिव पार्वती और माता जी एक ही मंदिर में विराजमान है। शिव जी के पिंड के चारो और गणेश जी पार्वती जी कार्तिक जी और नंदी भगवान की प्रतिमाँ है
परिसर में कोई भी भक्त मंदिर के अंदर आकर दर्शन कर सकता है और शिव जी का अभिषेक और जल चढ़ा सकता है।
मंदिर परिसर में भैरव जी की प्रतिमा भी विराजमान है

शिवरात्रि पर साबूदाने की की खिचड़ी और भांग के दूध का वितरण प्रसाद के रूप में होता है|

Important Point:
1) बालाजी हनुमान मंदिर सुबह 6 बजे से श्याम 10 बजे तक ख़ुला रहता है।
2) बालाजी हनुमान मंदिर में किसी भी प्रकार का प्रतिबंद नहीं है लेकिन कोई भी व्यक्ति मॉस मदिरा करके नहीं जा सकता है , ऐसी महिला जो रजस्वला हो मंदिर में प्रवेश न करे ये महिला को खुद ही ध्यान देना होगा
3) बालाजी हनुमान मंदिर परिसार में गाय भी है आप गयो को रोटी दे सकते है
4) शिवलिंग पर 5 बजे के बाद जल न चढ़ाये

Add Comment

seven + thirteen =