Nariyal Wali Mata Mandir Indore

नारियल वाली दुर्गा माता मंदिर (Amba Wali Mata) अद्भुत है, इस मंदिर में माँ बहन बेटियों की सुनी गोद भर्ती है |

हर मंगलवार  को सुनी गोद भरी  जाती है , जो भी बहन और बेटिया अपनी गोद भरवाना चाहती है उन्हें मंगलवार के दिन रात नो बजे माता की आरती में सामिल होना अनिवार्य है

बहन बेटियों की  सुनी गोद मंगलवार रात्रि 10 बजे से 11:30 के मध्य भरी जाती है  हम बात कर रहे है दत्त नगर की आंबा वाली माता के मंदिर की जो इंदौर के राजेंद्र नगर क्षेत्र में स्थित है ।

मान मन्नत रखने के नियम

अपनी मनोकामनाएं पूरी करने के लिए कुछ नियम बनाये  गए है जिसका आपको पालन करना पड़ता है नियम इस प्रकार है

1)  मन्नत का विशेष दिन मंगलवार का होता है मन्नत रखने वाले को तीन नारियल और पूजा सामग्री चढ़ाना अनिवार्य  है

2)  पूजा सामग्री से बन्ने वाली सिद्ध डोरी (धागा) आरती पूरी होने के बाद लाइन में लगकर लेना होगा

3)  जो ही व्यक्ति मन्नत रखता है उसे मन्नत के धागे को सीधे हाथ के बाजु  में या गले में पहनकर  पांच मंगलवार माता के दरबार में आकर २१ परिक्रमा करना होती है

4)  मन्नत मांगने वाले को मन्नत पूर्ण होने पर संकल्प लेना पड़ता है की वो क्या प्रसाद चढ़ाएगा जब उसकी मन्नत पूरी हो आएगी

5)  मन्नत पूर्ण होने पर जो संकल्प किया है वो पूर्ण करना अनिवार्य है

6)  किसी कारणवश यदि कोई भाई या बहन जिसने मन्नत मांगी हो नहीं सा सकता है मंगलवार को तो उसे मंगलवार का उपवास करना होता है और रात्रि 12 बजे के बाद भोजन कर उपवास खोलना होता है |

 

Amba Wali Mata Indore

भोजन प्रसद्धि : आरती के पश्चात भोजन प्रसद्धि का वितरण किया जाता है मंदिर परिसर में

चढ़ाये गए नारियल का क्या किया जाता है

साल में आने वाली तीनों नवरात्र के पूर्व  सभी नारियलों को पेड़ से उतार लिया जाता हैं। नारियल इतने अधिक मात्रा में हो जाते है की एक ट्रक भर जाता हैं। इन नारियल  को न तो खाया जाता है और  न ही बेचा जाता हैं। इनका उपयोग हवन करने के लिए किया जाता है। भक्त गण इसे आंबावाली माता भी कहते है और यहाँ पर कई  बहनो औरबेटियों की सूनी गोद भरी गई है। इनका आंकड़ा पांच से सात हजार तक का है। हर मंगलवार बड़ी संख्या में यहाँ महिलाएं अपनी सुनी गोद भरवाने के लिए आती है।

 

Amazing Temple Of Amba Wali Mata Indore

 

माता का होता है कुमकुम स्नान

नवरात्र की अष्टमी को माता की भव्य पूजा आरती होती है। यहाँ पर देशभर से भक्त माता के दर्शन करने और मन्नत मांगने आते हैं। नवरात्र की अष्टमी के दिन की पूजा को कुमकुम स्नान पूजा कहते हैं। इस दिन माता अपने भक्तों को रातभर दर्शन देती है। और मंदिर में धागा बांधा जाता है।

Address:

आंबा वाली माता

दत्त नगर (राजेंद्र नगर क्षेत्र) Indore

Add Comment

17 − nine =